History of RID 3250

रोटरैक्ट 3250 :: परिचय एवं इतिहास

रोटरी अन्तराष्ट्रीय” विश्व के कई देशो में स्थित है एवं इस सभी को अपनी पहचान मंडल के रूप में स्थापित किया गया है. भारत में 26 मंडल हैं. जिसमे हमारा मंडल “मंडल 3250” (बिहार एवं झारखण्ड राज्य का सम्पूर्ण भू-भाग) के नाम से जाना जाता है.

जब रोटरी अन्तराष्ट्रीय ने भारत में कदम रखा तो सर्वप्रथम रोटरी कलकत्ता की स्थापना हुई. उसके बाद दूसरा रोटरी पटना की स्थापना हुई. उसी तरह 13 मार्च 1968 को रोटरैक्ट की स्थापना हुई तो एशिया का पांचवां रोटरैक्ट क्लब, रोटरैक्ट पटना चार्टर हुआ. उस वक़्त बिहार एवं उड़ीसा का सम्पूर्ण भू-भाग मंडल 326 के नाम से जाना जाता था. सत्र 1985-86 में मंडल 326 का विभाजन उड़ीसा एवं 14 रोटरैक्ट क्लबों के साथ मंडल 325 अपना बिहार बना. सत्र 1991-92 से मंडल 325, मंडल 3250 हो गया. जब बिहार बिभाजित हो कर दो राज्य बिहार एवं झारखण्ड बना तो भी रोटरी अंतराष्ट्रीय मंडल 3250 ही रहा.

मंडल 3250 से ही मंडल 326 के मंडल रोटरैक्ट प्रतिनिधि रो. राजेश कुमार, रोटरैक्ट भागलपुर से सत्र 1984-85 के लिए निर्वाचित हुए. उसके बाद मंडल का बिभाजन हुआ एवं सत्र 1985-86 में गया के रो. कौशलेन्द्र नारायण प्रताप रोटरैक्ट मंडल के रोटरैक्ट प्रतिनिधि हुए. उनके नेतृत्व में मंडल 3250 विश्व रोटरी में अपना स्थान स्थापित करने में सफल हुआ. मंडल 3250 का पहला कांफ्रेंस “RODICON 86” रामगढ़ में एवं मंडल असेंबली “Assembly & Rotaract Information” पटना में आयोजित हुआ.

हमारे मंडल में एक से बढ़कर एक एवं अनेक प्रतिभाओं के धनी रोटरैक्टर हुए जिनमे से एक थे रो. अजित चड्ढा , जो मोनो एक्टिंग के बहुत अच्छे कलाकार थे. एक मंडल कांफ्रेंस में जाते वक़्त वे दुर्घटना के शिकार हुए और हम सबों को छोड़ कर चले गए. उनकी स्मृति में मंडल कांफ्रेंस में प्रत्येक वर्ष Rtr. Ajit Chadda Memorial Mono-Acting प्रतियोगिता आयोजित होती है.

सत्र 1996-97 में 22-25 दिसम्बर 1996 को रोटरैक्ट का महाकुम्भ “रोटेशिया 96” धर्म नगरी वाराणसी में आयोजित हुआ, जिसमें हमारे मंडल के दस क्लबों से 29 सदस्यों ने भाग लिया. रोटेशिया जो कि साउथ एशिया के देहों के लिए आयोजित होता है, जिसमें भारत, श्रीलंका, नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, पाकिस्तान के रोटरैक्टर सम्मिलित होते हैं. उसमे हमारे मंडल को पांच पुरस्कार प्राप्त हुए-

  • बेस्ट बैनर, (रोटरैक्ट चाईबासा)
  • 100 प्रतिशत उपस्तिथि (रोटरैक्ट बिहार शरीफ़)
  • 100 एडवांस रजिस्ट्रेशन (रोटरैक्ट बिहार शरीफ़)
  • बेस्ट रैली
  • आउटस्टैंडिंग मेम्बर (रो. नवनीत बरहपुरिया)

इसी प्रकार मंडल 3250 ने कई उतार चढ़ाव देखें एवं सत्र आगे बढ़ता रहा. सत्र 1996-97 के रो. संजीव वेयोत्रा जो कि रोटरैक्ट धनबाद के सदस्य थे, मंडल 3250 के प्रतिनिधि के लिए निर्वाचित हुए, लेकिन कुछ निज़ी कारणों से उन्हें ये पद त्यागना पड़ा एवं मंडल नेतृत्व विहीन हो गया, तब रोटरी 3250 के डिस्ट्रिक्ट गवर्नर ने PDRR रो. अजेय वर्मा को नेतृत्व सौंपा. तब सत्र 1998-99 के पटना कांफ्रेंस में भविष्य में इस तरह कि परिस्थिति से निपटने के लिए यह अधिनियम पास हुआ कि आने वाले कांफ्रेंस में एक अगले सत्र के DRR का चयन किया जायेगा. तब सत्र 1999-2000 में बक्सर में आयोजित मंडल कांफ्रेंस “दृष्टी 2000” में सत्र 2000-01 के लिए रो. नीलांजन दत्ता एवं 2001-02 के लिए रो. भरत भूषण सिंह का चयन हुआ. इस प्रकार हमारे मंडल में रोटरैक्ट प्रतिनिधि (निर्वाचित) पद सृजित हुआ. इस तरह मंडल 3250 आगे बढ़ता गया एवं रोटरैक्ट क्लबों की संख्या सौ पार हुई परन्तु सक्रिय क्लब करीब 20-25 ही रहे. सत्र 2008-09 में मंडल सचिव का मनोनय दुसरे क्लब से कर रोटरैक्ट प्रतिनिधि रो. नवनीत बरहपुरिया ने मंडल सचिव मनोनीत करने का एक नया प्रचलन मंडल में आरंभ किया गया और रो. अभिषेक शाह पहले रोटरैक्ट मंडल सचिव मनोनीत किये गए. इसी सत्र में एक अनोखा फ़ैसला लेते हुए मंडल रोटरैक्ट प्रतिनिधि रो. नवनीत बरहपुरिया ने रोटरैक्ट एवं इंटरैक्ट का मंडल कांफ्रेंस एक साथ “मिलाप-09” का आयोजन बिहार शरीफ़ में किया, जिसमे मंडल 3250 के सौ से ज्यादा रोटरैक्टर, इंटरेक्टर तथा रोटेरियन सम्मिलित हुए.

अभी मंडल 3250 में ३३ क्लब चार्टर हैं जो की मंडल रोटरैक्ट प्रतिनिधि रो. अनमोल सिंघल के नेतृत्व में विश्व में मंडल 3250 का एक उच्च स्थान स्थापित कर रहे हैं.

Know more about 3250 ?? Leave your comments & suggestions on comment box.

Advertisements

2 thoughts on “History of RID 3250

  1. It gives me immense pleasure to see the Rotaract movement of R.I.Distt- 3250 which has been very close to my heart. I have been in this movement since 1984 and was fortunate to be nominated without an election as its DRR for the session 1989-90. Trust me, whatever little I have achieved in my life today is due to this great platform. Urge all the current Rotaractors to guide the youth, who so desperately require a right platform to carve a niche in life, nothing can be better than joining this great world of “ROTARACT”. Wish the team a great year ahead. Loads of love & wishes.! Warm Regards, Yash Vardhan

    Liked by 1 person

  2. Addendum to my earlier post, please ignore the typo error and edit the year of my DRR tenure to 1990-91. Sincerely apologize and regret the inconvenience.
    Warm Regards,
    Yash Vardhan.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.